क्या आपने कभी है सोचा है कि आप जब भी इंटरनेट पर जानकारी सर्च करते हैं तब वह आपके सामने कैसे आती है उसके पीछे क्या मैकेनिज्म या सिस्टम होता है?

यदि हां, तो में आपको बता दूं कि या काम सर्च इंजन का होता है।

और यदि आप यह जानना चाहते हैं कि search engine kya hai और सर्च इंजन कैसे काम करता है तो यह लेख आपके लिए बहुत ही ज्यादा लाभकारी होगा।

क्योंकि आज इस लेख में हम यह जानेंगे कि search engine kya hai और सर्च इंजन कैसे काम करता है।

तो चलिए शुरू करते हैं।

Search Engine Kya Hai – सर्च इंजन क्या होता है?

सर्च इंजीनियर एक सर्विस, टूल, और सॉफ्टवेयर है जिसको हम इंटरनेट की सहायता से एक्सेस और इस्तेमाल करते हैं जिसकी मदद से  इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को वर्ल्ड वाइड वेब (World Wide Web) से जानकारी प्राप्त होती है।

सर्च इंजन के पास अपने क्रॉलर्स, इंडेक्सर्स और बाकी जरूरी प्रोग्राम होते है जिसकी मदद से वह यह पता कर पता है कि किस व्यक्ति को किस तरह को जानकारी देखनी है। 

सर्च इंजन को हम हिन्दी में खोज इंजन भी बोलते है।

Search Engine Kaise Kaam Karta Hai – सर्च इंजन कैसे काम करता है 

क्या आपको कभी यह सोचकर हैरानी हुई है की कैसे सर्च इंजन आपके हर सवाल का जवाब इतने अच्छे से और बिल्कुल सही तरह से पता है।

यदि हां, तो आज आपको इसका जवाब भी मिलने वाला है। आज आप यह जान पाएंगे की इतने विशाल इंटरनेट से सर्च इंजन आपको इतनी सटीक जानकारी कैसे प्रदान कर पता है।

सर्च इंजन के काम करने का तरीका काफी खास होता है। सर्च इंजन जानकारी को खोजने के लिए आपके द्वारा लिखे गए कीवर्ड या फ्रेज का इस्तेमाल करता है। 

कीवर्ड या फ्रेज उन शब्दो को बोला जाता है जो की आप गूगल में आपने सवाल के रूप में पूछते है।

सर्च इंजन इन कीवर्ड को अपने डेटाबेस में खोजता है और जो भी कीवर्ड या फ्रेजेज इनसे सबसे जायदा मिलती है वह उसको आपके सामने लाकर दिखा देता है।

सर्च इंजन बहुत ही तेज़ कार्य करता है और इसका सारा श्रेय इसकी कोडिंग और बनवावट को जाता है।

सर्च इंजन इंटरनेट पर मूजूद सभी वेबसाइट को स्कैन और एनालाइज करके वेबसाइट में जितनी भी यूजफुल इनफॉर्मेशन होती है उसको अपने सवार में स्टोर कर लेता है जिसके बाद वह वेबसाइट में अंदर जो भी चीज लिखी हुई है उसको पढ़ता है और समझता है और यह सुनिश्चित करता है के जानकारी वास्तव में किस चीज के बारे में लिखी गई है।

और उसके बाद आप जब भी किसी चीज के बारे में सर्च करते है तो यह उसको इनफॉर्मेशन व जानकारी के रूप में आपको दिखता है। इस सभी प्रक्रिया को इंडेक्सिंग एंड क्रॉलिंग बोलते है।

अब जब सर्च इंजन ने सभी एबिट को इंडेक्स और क्रॉल कर लिया है और उसको पता है की किस वेबसाइट पर किस चीज के बारे में लिखा गया है तो वह अब यूजर व इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को जानकारी दिखाने के योग्य है।

अब जब भी कोई व्यक्ति सर्च इंजन में कोई सवाल पूछता है तो इसके द्वारा दिए गए कीवर्ड को समझकर वा आपने डेटाबेस में से उसके जवाब को खोजता है और यूजर के सामने प्रदान करता है।

Search Engine Ki Speed Kitni Hoti Hai – सर्च इंजन की स्पीड कितनी होती है?

यदि आप यह सोच रहे है कि आपको तो जानकारी आपके सवाल पूछने के बाद तुरंत ही मिल जाती है तो इसे में इंटरनेट के काम करने की स्पीड कितनी होगी। तो मैं आपको बता दूं कि इंटरनेट के काम करने की स्पीड ऐंग्स्ट्रॉम में होती है जो की एक सेकंड का दसवां भाग होता है जिसका मतलब यह है की आप Search engine में कुछ भी सर्च करेंगे तो आपको वह तुरंत नतीजा खोज कर दे देगा।

Search Engine कितने प्रकार के होते है?

वैसे तो सर्च इंजन का कार्य एक ही होता है यूजर/ उपयोगकर्ताओं को जानकारी प्रदान करना परंतु यदि हम इसके प्रकार की बात करे तो Search engine मुख्य रूप से 3 प्रकार के होते हैं:

  • क्रॉलर बेस्ड (Crawler Based)
  • डायरेक्टरी बेस्ड (Directory Based)
  • हाइब्रिड बेस्ड (Hybrid Based)

#1. क्रॉलर बेस्ड (Crawler Based)

Crawler based search engine क्रॉलर बेस्ड सर्च इंजन नई वेबसाइट, ऑनलाइन डॉक्यूमेंट्स और ग्राफिक्स आदि को क्रॉल और इंडेक्स करने करने के लिए स्पाइडर, क्रॉलर, बोट्स और टोबर्स का प्रयोग करता है। इस तरह के सर्च इंजन को काम करने के लिए क्रेलवर, इंडेक्सिंग, और कैलकटिंग फ्रीक्वेंसी और रिट्रिविंग रिजल्ट इन सभी नियमों का पालन करना होता है। क्रेलर बेस्ड सर्च इंजन के नाम गूगल,याहू, और बिंग है।

#2. डायरेक्ट्री बेस्ड (Directory Based)

Directory बेस्ड सर्च इंजन को काम करने के लिए डायरेफ्ट्री दी जाती है। इसमें वेब डायरेक्टरी को सब्जेक्ट डायरेक्टरी में बदला जाता है और डायरेक्टरी में वेबसाइट को इंडेक्स करने के लिए वेबसाइट के एक लिस्ट दी जाती है जो की कैटिगरी के आधार पर सी जाती है।

इसमें वेबसाइट की लिस्ट के साथ वेबसाइट का सब्जेक्ट और डिस्क्रिप्शन भी दिया जाता है जिससे search engine वेबसाइट के बारे में समझ पता है की वह किस बारे में है।

इस तरह के सर्च इंजन को चलाने के लिए मानव की काफी आवश्यकता होती है और वेबसाइट को इंडेक्स करने के लिए भी यूजर को खुद ही डायरेक्टरी में इंडेक्स करना होता है। DMOZ और BOTM दोनो ही डायरेक्टरी बेस्ड सर्च इंजन है।

#3. हाइब्रिड बेस्ड (Hybrid Based)

Hybrid search engine डायरेक्ट्री और क्रॉलर बेस्ड सर्च इंजन दोनो का मिसर्न होते है। इनमे वेबसाइट को डायरेक्टरी के रूप में भी इंडेक्स किया जा सकता है और क्रैलवर और इंडरेक्सर का इस्तेमाल करके भी वेबसाइट को इंडेक्स किया जा सकता है और यूजर को रिजल्ट दिखाया जा सकता है।

Search Engine का क्या कार्य होता है? 

सर्च इंजन का कार्य वर्ल्ड वाइड वेब से इनफॉर्मेशन खोजकर यूजर के द्वारा टाइप किए गए कीवर्ड और फ्रेजेस के आधार पर यूजर को जानकारी दिखाना होता है।सर्च इंजन का मुख्य काम यह होता है कि जो व्यक्ति इंटरनेट पर जो कुछ सर्च कर रहा है उसका वह जानकारी प्राप्त हो सके।

सर्च इंजन इस बात का भी खयाल रखता है की जिस वेबसाइट सेवा जानकारी लाकर आपको दिखा रहा है वो वेबसाइट एक सुरक्षित और अच्छी वेबसाइट हो ताकि आपके सिस्टम, मोबाइल या लैपटॉप में कोई वायरस न जाए।

सर्च इंजन का एक और मुख्य कार्य वेबसाइट को इंडेक्स और क्रॉल करना होता है और वेबसाइट के अंदर क्या जानकारी लिखी गई है और क्या वह जानकारी लोगो तक पूछने से कोई नुक्सान तो नही होगा, सर्च इंजन इस बात का भी पूरा ध्यान rhkta है।

Bharat ka Pehla Search  Engine Konsa Hai – भारत का सर्च इंजन कौन सा है?

भारत का फेला सर्च इंजन Guruji.com है जिसको दिल्ली आईआईटी (IIT) के दो ग्रेजुएट्स ने बनाया था। यह सर्च इंजन इंडिया का पहला लोकल सर्च इंजन है । इस सर्व इंजन के बनाने मुख उद्देश्य हिंदी और लोकल भाषाओं में ज्यादा अच्छे तरह से जानकारी देना है। 

Duniya Ka Pehla Search Engine Konsa Hai – दुनिया का पहला सर्च इंजन कौन सा है?

दुनिया के पहले सर्च इंजन का नाम Archie था जो को 1990 में लॉन्च किया गया था । शुरुवात में सर्च इंजन सिर्फ पब्लिशर्स, रिपोर्टर्स और जर्नलिस्ट के लिए ही बनाया गया था परंतु आज सर्च इंजन hr व्यक्ति के लिए एक्सेसिबल यानी पहुंच में है। Archie search engine 10 September, 1990 को लॉन्च किया गया था।

Internet Ke Parmukh Searhc Engine Konse Hai – इंटरनेट के प्रमुख सर्च इंजन कौन-कौन से हैं?

इंटेनेट के प्रमुख 10 सर्च इंजन के नाम निम्नलिखित है:

  1. Google 
  2. Microsoft Bing
  3. Yahoo!
  4. Yandex
  5. Baidu
  6. DuckduckGo
  7. Archie
  8. Internet Archive
  9. Ask.com
  10. Aol.com

Kya Chrome Ek Search Engine Hai – क्या क्रोम एक सर्च इंजन है?

क्रोम गूगल के द्वारा बनाया गया एक वेब ब्राउजर है न की एक सर्च इंजन। गॉगल खुद एक सर्च इंजन है तो वा एक और सर्च इंजन कभी नहीं बनाएगा।

यदि आपको यह जानना है की वेब ब्रोशर क्या होता है और दोनो में क्या अंतर है तो आपको हमारा या लेख जरूर पढ़ना चाहिए जिसको आपको यह समझने में आसानी होगी की Web browser kya hai

आपने सीखा:

आज हमने जाना की search engine kya hai और search Engine kaise kaam karta hai। मुझे उम्मीद है की आपको सर्च इंजन के काम करने का तरीका अच्छे से समझ में आ गया है। यदि आपको सर्च इंजन को लेकर अभी भी कोई सवाल है तो आप हमको कॉमेंट बॉक्स के जरिए से पूछ सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.