यदि आप कंप्यूटर का इस्तेमाल करते है और कॉमर्स या मैथ्स के स्टूडेंट्स है तो आपने कभी न कभी Tally का नाम तो सुना ही होगा। 

परन्तु आपको tally को लेकर कन्फूसिओं रहती है और आपको समझ में नही आता की tally kya hai.  


Edupristine के अनुसार छोटे और मध्यम उद्यम, इलेक्ट्रॉनिक्स और विद्युत और आपूर्ति विक्रेता सभी बिज़नेस टैली का उपयोग करते है।

इसलिए आज हम इसी टॉपिक के ऊपर चर्चा करेंगे, और जानेंगे कि टेली क्या है, टेली का पूरा नाम क्या है, इसके क्या उपयोग है और इसको करने से हमें क्या क्या लाभ हो सकता है। 

हम आपकों इससे संबंधित सभी जानकारी आज इस आर्टिकल में बतायेंगें ताकि इसको लेकर आपके मन में कोई सवाल न रहे। तो चलिये शुरू करते हैं।


Tally Kya Hai – टेली क्या है? 

टेली एक अकाउंटिग सॉफ्टवेयर है जिसके द्वारा हम कंपनी का वित्तीय संबंधी लेखा-जोखा रख सकते है। इससे ये पता लगाया जा सकता है कि कंपनी कितना ग्रोथ कर रही है। इसके द्वारा बड़े बड़े हिसाबों को काफी आसानी से हल किया गया जा सकता है। 

इसलिए ये सॉफ्टवेयर दुनिया भर में इतना ज्यादा प्रचलित है। जिस तरह पुराने जमाने में हर कंपनी के पास एक या एक से ज्यादा मुनीम होते थे जिनके हाथ में बिजनेस का सारा लेखा जोखा होता था यानी उनको इसकी जानकारी रखनी होती थी कि बिजनेस में कितना लाभ हो रहा है, कितनी हानी हो रही है, कितने पैसे ऊधार में गये है और कितने एड़वांस आ गये है। 

किस किस को तनख्वाह दी है, और किस को देनी बाकी है, और सबसे बड़ी बात ये सारा का सारा काम हाथ से किसी एक डायरी में करना होता था जिसे हम बहीखात के नाम से भी जानते हैं। ठीक उसी प्रकार आज बड़ी बड़ी कंपनियों में होता है। 

इन कंपनियों में रोजाना लाखो करोड़ो का  व्यापार होता है। जिसमें ये भी डाटा रखना होता है कि, कितना मुनाफा हुआ और कितना घाटा ताकि कंपनी को अपनी कमाई का पता लग सके,  जिसको रजिस्टर में मेंटेन करके रखना आज कल की भागदौड़ भरी जिंदगी में मुमकिन नहीं है। 

तो इस परेशानी को दूर करने के लिए टेली सॉप्टवेयर बनाया गया। जिसके बारे में हम आगे बात करेंगै। 


Tally Ka Full Form Kya Hai – टेली का फुल फॉर्म क्या होता है?

टेली को शोर्ट मे टेली कहते है लेकिन टेली का पूरा नाम Transactions Allowed in a Linear Line Yards होता है।


Tally Ka Upyog – टेली का उपयोग

दोस्तो अगर आपको यह जानना है कि टेली का उपयोग कैसे करे तो इसके लिए आपको पहले टेली कोर्स को पूरी तरह से सीखना पड़ेगा और अगर बात करे कि इसका उपयोग कहा कहा होता है। तो वह हमने आपको  उपरोक्त हेडिंग में बता दिया है। जिसको आप दोबारा से पढ़ सकते हो। 


Tally Ka Itihas – टेली का इतिहास

Tally software को सन 1981 में श्यामसुंदर गोयनका और उनके पिता भारत गोयनका के द्वारा तैयार किया गया था। 

इस software को बनाने की असली वजह यह थी कि 1981 में श्याम सुंदर गोयनका जी एक कंपनी के मालिक थे। 

यह कम्पनी textile मिलो के कच्चे माल और मशीनों के पार्ट्स बनाती थी उस समय जब उनके दिमाग में ये विचार आया की क्यों न एक ऐसा सॉफ्टवेयर बनाया जाय जिससे बड़े से बड़े लेन देन का हिसाब आसानी से किया जा सके। तब उन्होंने अपने पुत्र को ये सॉफ्टवेयर बनाते को कहा उनके पुत्र भारत गोयनके ने गणित में स्नातक की थी उन्होंने ये सॉफ्टवेयर बनाया जिसको आज हम टेली के नाम से जानते हैं।


Tally Me Kya Sikhaya Jata Hai – टेली में क्या सिखाया जाता है

दोस्तो बात करे अगर टेली कोर्स के सैलेबस की, कि इसमें कौन कौन से टॉपिस कवर होते है तो वे इस प्रकार है-

  • Accounting day to day transaction
  • Storage and Classification of Inventory
  • Administration of complete order processing cycle
  • Statuary and taxation GST and TDS
  • Data Management
  • Principle of Accounting
  • Order processing
  • Data management and technical aspects
  • Introduction to GST
  • Getting started with GST , goods
  • Getting started with GST , services
  • Recording advance and adjustment entries
  • Fundamentals of Accounting
  • Inventory Management
  • Receivables and Payables Management
  • Generating MIS Report
  • Maintain in GST compliaints Records Using Tally
  • Accounting of TDS other than salary
  • Banking and Payments
  • Allocated and tracking of expensive and income
  • E – Way Bill
  • Generating GST Report

टेली कितने प्रकार की होती है – टेली के संसकरण (वर्जनस)

टेली क्या है

इस सोफ्टवेयर  में समय के साथ साथ कुछ न कुछ बदलाव किये जो कि अपने आप में एक एक सही चीज है इसमें नये नये फीचर्स समय के साथ साथ जोडे गये इसीलिये ये आज इतना पापूलर सपाफ्टवेयर है। ये बदलाव कब कब किये गये इसके बारे में आगे बताया गया है। 

  • कंपनी ने अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर का पहला वर्जन लॉन्च किया. हालाँकि यह MS-DOS एप्लीकेशन के रूप में कार्य करता था. इस Version को “प्युट्रॉनिक्स” नाम दिया गया जिसमें केवल कुछ सीमित फ़ीचर्स ही मौजूद थे।
  • वर्ष 1999 में कंपनी ने इस नाम(प्युट्रॉनिक्स) को औपचारिक रूप से बदलकर Tally Solutions रख दिया।
  •  वर्ष 2006 में कंपनी ने Tally 8.1 तथा Tally 9 Version लॉन्च किए गए।
  •  2009 में Tally Solution ने Tally ERP 9 बिज़नेस मैनेजमेंट सोलुशन के रूप में लॉन्च किया।
  • साल 2015 में Tally Solution ने टैक्सेशन तथा कंप्लायंस फ़ीचर्स के साथ Tally ERP 9 5.0 Version लॉन्च किया।
  • तथा हाल ही में कंपनी द्वारा अपडेटेड GST (गुड्स एंड सर्विस टेक्स्ट) अनुपालन सॉफ्टवेयर लॉन्च हैं।

Tally Ka Course Kitne Din Ka Hota Hai – टेली का कोर्स कितने दिन का होता है

दोस्तो अगर आप टेली कोर्स करना चाहते है तो आपको इतना तो पता होना ही चाहिए कि इस कोर्स को करने में कितने दिन का समय लगता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि टेली कोर्स दो प्रकार का होता है।

  1. बेसिक टेली 
  2. एड़वांस टेली

केवल बेसिक टेली सीखने में ही 3-4 महीने लग जाते हैं। और अगर बात करे एड़वास टोली कोर्स के बारे में तो इसको सीखने में भी लगभग 3-5 महीने लग जाते है। यानी अगर देखा जाये तो पूरी तरह टेली सीखने में 8-9 महीने का समय तो लगता ही है।  


Tally Karne Ke Baad Kya Fayde Hai – टेली करने के क्या फायदे है

दोस्तो टेली करने के फायदे बहुत है अगर आप टेली कोर्स पूरी तरह से सीख लेते हो तो आप निम्न क्षेत्रो मं  जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हो। जो कि इस प्रकार है। संस्थानों

  •  परिवहन
  • व्यापार क्षेत्र
  • सेवा क्षेत्र
  • डॉक्टरों
  • धर्मार्थ न्यास
  • उद्दम
  • वकील
  •  चार्टर्ड अकाउंटेंट
  • बिल्डर्स
  • गैस स्टेशन
  • सुपरमार्केट
  • व्यक्तियों
  • दवाइयों

दोस्तों यहीं नहीं आप इनके अलावा बहुत से क्षेत्रो में टेली कोर्स सीखने के बाद जॉब कर सकते हो।


Tally Course Kyu Important Hai – टेलीकोर्स  क्यों महत्वपूर्ण है

दोस्तो टेली कोर्स इसलिए महत्वपूर्ण है। क्योंकि आजकल बेरोजगारी की कमी नहीं है। शिक्षित से शिक्षित युवा भी बेरोजगार है। ऐसे में अगर आप इस कोर्स को कर लेते है तो आपके पास जॉब करने का एक बेहतर विकल्प हो सकता है।आप आसानी से पार्ट टाईम  या फुल टाईम जॉब कर सकते हो और अच्छा पैसा कमा सकते हो।


आपने आज “Tally Kya Hai”  के बारे में क्या सीखा 

दोस्तों  आज हमने यह जाना कि tally kya hai। इसका पूरा  नाम और इसकी शुरूआत किस तरह से हुई, इसमें क्या सिखाया जाता है, इसमें कितने प्रकार होते है। 

इसको करने से आपको क्या फायदा हो सकता है और रोजगार के उद्देश्य से भी कितनी लाभकारी हो सकती है। दोस्तों अगर आपको इसमें कुछ और जानना हो तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते हो। 

2 Comments

  1. Thank you very much for your useful articles. I want to know more about tally…Hope you will provide!!! Keep Working…

Leave a Reply

Your email address will not be published.